अपना सिबिल (क्रेडिट स्कोर) सुधारे

आपकी सिबिल रिपोर्ट के आधार पर तय की जाने वाली आपकी सिबिल रेटिंग आपके क्रेडिट रिकॉर्ड का एक अनिवार्य हिस्सा है। 750 से कम का सिबिल स्कोर होने पर लोन या क्रेडिट कार्ड में मुश्किलें आ सकती हैं, लेकिन इस स्कोर में सुधार किया जा सकता है। आप नीचे बताए गए तरीकों से अपना क्रेडिट स्कोर सुधार सकते हैं।

1. समय पर भुगतान करना

अपने बकाया लोन का समय पर भुगतान न करना एक बड़ी गलती हो सकती है क्योंकि यह आपके क्रेडिट स्कोर को बुरी तरह प्रभावित कर सकता है। जब आप EMI का भुगतान करने की बात करते हैं तो आपको समय का पाबंद होना चाहिए और समय पर भुगतान करना चाहिए। यदि EMI में देरी होती है, तो आपको न केवल पेनल्टी भरनी होती है, बल्कि आपका क्रेडिट स्कोर भी कम हो जाता है। इसलिए अपने क्रेडिट स्कोर को बेहतर बनाने के लिए समय पर भुगतान करें।

2. अपनी क्रेडिट रिपोर्ट में कमियों की जांच करें

आपके पास एक अच्छा क्रेडिट रिकॉर्ड हो सकता है, लेकिन कई तरह की ऐसी कमियां होती है, जिनके बारे में आप नहीं जानते हैं और वो कमियां आपके क्रेडिट स्कोर को कम कर सकती है। मान लीजिए, यदि आपने अपना लोन पूरी तरह से चुका दिया है और इसे अपनी तरफ से बंद कर दिया है, लेकिन यह प्रशासनिक कमी के कारण अभी भी एक्टिव दिखाई दे रहा है। इसी तरह, आपको अन्य कमियों और संदिग्ध गतिविधियों पर नज़र रखनी होगी। इन कमियों को हल करें और आप अपने स्कोर को शीघ्र बढ़ता हुआ देखेंगे।

3. एक अच्छे क्रेडिट बैलेंस को बनाए रखने की कोशिश करें

क्रेडिट कार्ड, पर्सनल लोन और ऑटो लोन, होम लोन जैसे सुरक्षित लोन और असुरक्षित लोन का अच्छा मेल-जोल होना उचित है। सिक्योर्ड लोन की अधिक संख्या वाले व्यक्ति को लोन देने वाले बैंक या कंपनी द्वारा पसंद किया जाता है और ब्यूरो भी उन्हें अच्छी क्रेडिट रेटिंग देते हैं। यदि आपके पास सिक्योर्ड लोन की तुलना में अनसिक्योर्ड लोन की संख्या अधिक है, तो अच्छा क्रेडिट बैलेंस बनाए रखने के लिए अपने अनसिक्योर्ड लोन का पहले ही भुगतान करें।

4. बकाया ना रखें:

अपने सभी क्रेडिट कार्ड के बकाया को समाप्त करना क्रेडिट स्कोर बढ़ाने के लिए ज़रूरी कदम है। अगर आप अपने क्रेडिट स्कोर में सुधार करना चाहते हैं तो तय तारीख से पहले अपने क्रेडिट कार्ड की बकाया राशि का भुगतान करें। इसके साथ ही क्रेडिट स्कोर को सुधारने की योजना बनाएं।

5. जॉइंट अकाउंट होल्डर से बचें

जॉइंट अकाउंट होल्डर या लोन के गारंटर बनने से बचें, क्योंकि दूसरी पार्टी से कोई डिफॉल्ट भी आपके सिबिल स्कोर को प्रभावित कर सकता है।

6. एक सुरक्षित कार्ड प्राप्त करें

इसका अर्थ है फिक्स्ड डिपॉज़िट के बदले क्रेडिट कार्ड लेना। इस तरह का सिक्योर्ड कार्ड लें और तय तारीख पर भुगतान करें।

7. एक समय पर कई लोन लेने से बचें

अपने क्रेडिट स्कोर को कम होने से बचाने के लिए एक से अधिक लोन से पहले मौज़ूदा लोन को चुकाना सबसे अच्छा है। एक बार में कई लोन लेने से पता चलता है कि आपके पास उन सभी का भुगतान करने के लिए पैसों की कमी हो सकती है।इसलिए एक बार में एक लोन ले और उसका समय पर भुगतान करें। इससे आपके क्रेडिट स्कोर को बढ़ाने में मदद मिलेगी।

8. अपने क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल लिमिट में करें

अपने क्रेडिट स्कोर को बेहतर बनाने के सबसे महत्वपूर्ण तरीकों में से एक है, अपने क्रेडिट कार्ड की पूरी लिमिट का उपयोग ना करना। हर महीने अपनी क्रेडिट लिमिट का केवल 30% खर्च करना सुनिश्चित करें। मान लीजिए, यदि आपकी क्रेडिट लिमिट 1,00,000 रु. है तो आप सुनिश्चित करें कि 30,000 रु. से ज़्यादा खर्च न करें। आपके क्रेडिट कार्ड के माध्यम से 30% से अधिक खर्च यह दर्शाता है कि आप अपने खर्चों को बिना सोचे समझे खर्च करते हैं और आपका स्कोर कम हो जाएगा।

9. लम्बी अवधि चुनें

लोन लेते समय, पैसा चुकाने के लिए अधिक लम्बी अवधि चुनें। इस तरह, EMI कम होगी और आप आसानी से सभी भुगतान समय पर कर पाएंगे। आप डिफॉल्टर होने से बचेंगे और अपने स्कोर में सुधार कर सकेंगे।

10. अपनी क्रेडिट लिमिट बढ़ाएँ

यदि आपका बैंक आपसे आपके कार्ड की क्रेडिट लिमिट बढ़ाने के लिए कहता है तो कभी भी इसके लिए मना न करें। यदि आप चाहें तो  क्रेडिट लिमिट के बारे में अपने बैंक से भी पूछ सकते हैं। इसका मतलब यह नहीं है कि आप हर महीने अधिक पैसा खर्च करने जा रहे हैं, बल्कि आपको अपने खर्चों को मैनेज करने के बारे में स्मार्ट होना होगा। क्रेडिट स्कोर में सुधार के लिए क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कम रखें।

आमतौर पर आपके क्रेडिट स्कोर को बेहतर बनाने में 4-13 महीने लगते हैं, ये किसी व्यक्ति की आर्थिक स्थिति पर निर्भर करता है। पैसा खर्च करने या लोन लेने के दौरान आपको स्मार्ट, धैर्यवान और अनुशासित होना चाहिए।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *